स्वाभिमान टीवी, डेस्क। उत्तर प्रदेश के वाराणसी से चौंकाने वाला मामला सामने आ रहा है। यहां बेरोजगारी से परेशान पति ने वाराणसी में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली तो वहीं पति की मौत की खबर सुनने के बाद पत्नी ने गोरखपुर में छत से कूदकर जान दे दी। बताया जा रहा है कि दोनों पति पत्नी स्कूल के समय से ही एक दूसरे से प्यार करते थे और दोनों ने बाद में शादी भी कर ली थी। कपल की आत्महत्या के बाद से दोनों परिवारों में मातम पसरा हुआ है। एक न्यूज रिपोर्ट के अनुसार पटना का रहने वाला हरीश बगेश (28) और गोरखपुर की रहने वाली संचिता श्रीवास्तव एक ही स्कूल में पढ़े थे।

हरीश और संचिता को 11वीं क्लास से ही एक दूसरे से प्रेम था। बाद में दोनों ने शादी कर ली थी। लेकिन संचिता की तबीयत खराब होने के बाद उसके पिता उसे लेकर गोरखपुर आ गए थे, जहां उसका इलाज चल रहा था। हरीश भी मुंबई में अपनी बैंक की नौकरी छोड़कर गोरखपुर आ गया था। दो दिन पहले हरीश गोरखपुर से पटना जाने की बात कहकर निकला था, लेकिन वह वाराणसी के सारनाथ क्षेत्र की अटल नगर कॉलोनी में एक होम स्टे में रुका हुआ था। होम स्टे संचालक ने बताया कि 7 जुलाई की सुबह हरीश के कुछ रिश्तेदार उसे खोजते हुए पहुंचे होम स्टे पहुंचे।

उन्होंने बताया कि हरीश फोन नहीं उठा रहा है। इसके बाद सभी हरीश के कमरे तक पहुंचे। कमरा अंदर से बंद था. खिड़की से झांकने पर हरीश पंखे के सहारे एक फंदे से लटका नजर आ रहा था। हरीश को फंदे से लटका देख रिश्तेदारों ने इसके बारे में पुलिस को बताया मौके पर पहुंची पुलिस ने हरीश को अस्पताल पहुंचाया जहा डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जब यह बात गोरखपुर में अपने पिता रामशरण श्रीवास्तव के यहां रह रही संचिता को पता चली तो उसने छत से कूदकर आत्महत्या कर ली। सारनाथ थाना इंचार्ज के मुताबिक आधार कार्ड के जरिए हरीश की पहचान पुख्ता हो गई है. उसके पिता का नाम रामास्वामी मालवीय है।

By ashmit