स्वाभिमान टीवी डेस्क। क्या आपने कभी महसूस किया कि गर्मियों में हमे गुस्सा ज्यादा आता है। कई बार इस वजह से आपको शर्मिंदा भी होना पड़ता है। दोस्तों इसके पीछे एक वैज्ञानिक कारण है जिसे अगर आप जान जाएं तो आप अपने गुस्से को नियंत्रित कर सकते है।

ज्यादा टेम्प्रेचर में बढ़ती है दिमाग की गर्मी
एक रिसर्च के मुताबिक हाई टेम्परेचर के चलते लोग गुस्सा हो जाते हैं और सड़क पर गाड़ियों में ज्यादा हॉर्न बजाने लगते हैं, कई बार लोग गुस्से के चलते एक दूसरे से झगड़ा भी करने लगते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि गर्मी बढ़ने से 4 प्रतिशत हिंसा और 14 प्रतिशत सामूहिक हिंसा में बढ़ोतरी देखी गई है। जानकारी के अनुसार गर्मियों में शरीर में स्ट्रेस हॉर्मोन बढ़ता है जिसे हम कॉर्टिसोल भी कहते है, इसके बढ़ने के साथ साथ गर्मी का असर दिमाग पर पड़ता है। जब दिमाग को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन और हाड्रेशन नहीं मिलता तो वो रिएक्ट करने लगता है और फिर हमें अवसाद, तनाव या गुस्से का अहसास होने लगता है।

बढ़ जाती है दिल की धड़कन
रिसर्च में यह भी बताया गया है कि जब तापमान ज्यादा होता है तो हमारे दिल की धड़कन तेजी हो जाती है। इसके अलावा शरीर में टेस्टोस्टेरॉन और मेटाबॉलिक रिएक्शन भी बढ़ जाता है। जिसके चलते नर्वस सिस्टम की प्रक्रिया तेज होने लगती है और हमें गुस्सा भी आने लगता है।

कैसे कर सकते हैं कंट्रोल?
गर्मी बढ़ने पर अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर गुस्से को कंट्रोल में कैसे रखें? तो बता दें कि इस स्थिति में आप अपने मन को शांत रखकर, सुबह की शुरुआत मनपसंद संगीत को सुनकर कर सकते है। ज्यादा स्ट्रोंग कॉफी पीने से, सालेदार और ज्यादा हैवी खाने से बचे और इस स्थिति में थोड़ी ठंडी या अपने अनुकूल जगह पर रहकर भी आप खुद को कंट्रोल में रख सकते हैं।

ये भी पढ़ें: एलन मस्क ने की भारतीय मूल के इस इंजीनियर की तारीफ, पोस्ट कर कही ये बात…

By ashmit