स्वाभिमान टीवी, डेस्क। भारत में नमक का इस्तेमाल हमारी रसोई में रोजाना होता है। यह एक ऐसा खाद्य पदार्थ जिसके बिना खाने का कोई मोल नहीं है। खाने में किसी भी मसाले की कमी बर्दाश्त कर सकते हैं लेकिन नमक के कमी से खाने का स्वाद बेस्वाद हो जाता है। क्या आपको पता है कि हमारे खाने में स्वाद देने वाले इस नमक एक या दो नहीं बल्कि 10 तरह का होता है, जिसका उपयोग भोजन से लेकर आयुर्वेद तक कई चीजों के लिए किया जाता है।

टेबल सॉल्ट
टेबल सॉल्ट या रिफाइंड नमक एक ऐसा नमक है, जो आपको सभी घरों में आसानी से मिल जाएगा। बता दें यह नमक क्योंकि यह नमक प्रोसेसिंग के माध्यम से तैयार होता है। इसलिए इसे नेचुरल सॉल्ट नहीं कहते हैं। इस नमक में आयोडीन की मात्रा पर्याप्त होती है। जो शरीर में आयोडीन की कमी को दूर करता है।

सी सॉल्ट
सी सॉल्ट टेबल सॉल्ट के मुकाबले काफी अलग होता है इसका स्वाद भी टेबल सॉल्ट की तुलना में अलग होता है। इस नमक को वाष्पीकरण दूसरे शब्दों में कहा जाए तो समुद्र के पानी को भाप में बदलने से बनाया जाता है। कम सोडीयम और ज्यादा आयोडीन की मात्रा इस नमक को हमारी सेहत के लिए फायदेमंद बनाती है।

हिमालयन पिंक सॉल्ट
हिमालयन पिंक सॉल्ट इसे हम सेंधा नमक के नाम से भी जानते है। इस नमक की खास बात यह है कि इसमें टेबल सॉल्ट की तुलना में सोडियम की मात्रा काफी कम होती है। जो हमारी सेहत को कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। इसके साथ सेंधा नमक में आयरन, पोटैशियम, मैग्नीशियम और कैल्शियम सहित कई खनिजों की मात्रा भी शामिल है। जोकि हमारी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होती है।

काला नमक
काला नमक सिर्फ नाम से ही काला है, असल में इसका रंग हल्का गुलाबी होता है। यह नमक सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद है। अगर आपको कब्ज, गैस या पेट में दर्द की समस्या है, तो इसका उपयोग करना फायदेमंद साबित हो सकता है। इस नमक का उपयोग गर्मी के मौसम में सबसे ज्यादा किया जाता है।

कोषर नमक
कोषर नमक को ज्यादातर बड़े -बड़े रेस्टोरेंट में शेफ इस्तेमाल करते हैं। बता दें इस नमक के दाने का आकार टेबल सॉल्ट से थोड़ा बड़ा होता है। इसमें सामान्य नमक की तरह कोई आयोडीन या एंटी-केकिंग एजेंट नहीं होते हैं। यह सामान्य नमक की तुलना में काफी हल्का और साफ होता है, लेकिन यह स्वाद में कम नमकीन होता है।

By ashmit